Thursday, October 2, 2014

बेवकूफ लड़के ही होते हैं

feelings सिर्फ लड़कियों के पास होती है
बुरा भी सिर्फ लड़कियों को लग सकता है
आजकल तो ये भी सोचने लगा हूँ मैं कि
दिल भी सिर्फ लड़कियों के पास होता है

हम एक मैसेज का जवाब न दे पाएं तो we are ignoring
वो हमारे कई मैसेज का जवाब न दें तो it’s normal
लड़कियों को भी जाने किस मिटटी से बनाया है इस खुदा ने
दिल को चुभने वाली बातें भी कितनी आसानी से कह दिया करती हैं

लोग समझते हैं कि लड़कियां बुद्धू होती है
कुछ भी कह लो मान जाएँगी
पर सच तो ये है वो लड़कों से ज़्यादा समझदार होती हैं
बेवकूफ लड़के ही होते हैं
कुछ मेरे और कुछ दोस्तों के अनुभवों से कह रहा हूँ
बेवकूफ लड़के ही होते हैं
Literally और honestly
बेवकूफ लड़के ही होते हैं
पागल लड़के ही होते हैं

बेवकूफ लड़के ही होते है जो किसी की यादों में अपनी नींदें ख़राब किया करते है
बेवकूफ लड़के ही होते है जो अपना काम छोड़ उनके काम को अपना धर्म मान लेते हैं
पागल लड़के ही होते है जो अपना सब कुछ दांव पे लगा दिया करते है
पर मज़े की बात तो ये है कि उन्हें इन बेवकूफियों में ही मज़ा आने लगता है
पागल कहीं के..... _ _ _ कहीं के....

क्यूंकि लडको के पास feelings कहाँ होती है
लड़के emotional थोड़े ही हो सकते है
उन्हें किसी बात का बुरा थोड़े ही लग सकता है
क्यूंकि उनके पास दिल ही कहाँ होता है
इन सब का copyright तो सिर्फ लड़कियों के पास होता है

(अपने दिल की भड़ास निकालनी थी, निकाल दी......पर अब भी बहुत कुछ बाकी है लेकिन अब अगर और लिखा तो सिर्फ गालियाँ ही निकलेंगी और उसके लिए इसे शब्द मैं निकाल नहीं सकता... क्यूंकि मुझे उम्मीद है कि वो भी शायद थोडा तो....अब वो खुद ही समझे तो बेहतर है... आप लोग अपना काम करो अब.... पढने के लिए शुक्रिया)

एक “पागल” लड़का.....

Some of the lines are especially inspired from friend’s life… I hope he understand.. J

Wednesday, September 3, 2014

Test Post for comment

Hello guys,

This is just a test post as I'm trying to add an anonymous comment section in my blogger.

Wednesday, July 16, 2014

कुछ

‘कुछ’ लोगों को लगता है कि हमें ‘कुछ’ हो गया है
‘कुछ’ लोग हमें शक की निगाहों से देखने लगे है
मैं गर सोचूँ कि बोलूँ ‘कुछ’ नहीं है
और गर है तो सोचूँ कि ये ‘कुछ’ क्या बला है?

कई सालों पहले सुना था गाना कि ‘कुछ’ कुछ होता है
आज समझ आता है कि ये ‘कुछ’ क्या होता है ||

‘कुछ’ तो है जो ये दुनियाँ खूबसूरत लगती है
‘कुछ’ तो है जो ये फिजायें रंगीन लगती है
‘कुछ’ तो है जो खुद को भूल जाने को जी करता है और
‘कुछ’ तो है जो तुझमे डूब जाने को जी करता है ||

‘कुछ’ तो है जो तेरे जाने की खबर रहती है मुझे
‘कुछ’ तो है जो तेरे आने की फिकर रहती है मुझे
तू लाख मुझे चिड़ा ले कि मुझे फर्क नहीं पढता
पर ये तो तू भी जानती है कि ‘कुछ’ न ‘कुछ’ तो ज़रूर है तेरे मेरे बीच में ||

सोचा था इस ‘कुछ’ के बारे में ‘कुछ’ न ‘कुछ’ तो ज़रूर लिखूँगा
पर अब लगता है लिखते ही चले जाओ अहसास ख़त्म नहीं होगा
कहने को तो बहुत है सोचता हूँ लिखूँ तो क्या लिखूँ
बस इतना कह सकता हूँ जो ‘कुछ’ भी है खूबसूरत है ||


उम्मीद है इस ‘कुछ’ के जरिये ‘कुछ’ तो ज़रूर सोचेगी तू मेरे बारे में.....

Friday, June 27, 2014

काश मोहब्बत से पेट भी भरा जाता

काश मोहब्बत से पेट भी भरा जाता
मैं तेरे लिए नौकरी वौकरी सब छोड़ देता

तू साथ चलने का वादा तो कर
तेरे लिए पूरी दुनियाँ का साथ छोड़ देता

दिन और रात अब छोटे लगने लगे है
काश मैं भगवान से कुछ वक़्त और मांग पाता

कईयों से मैं मिलता हूँ, कइयो से बात होती है
पर तुझसे hi-hello न हो तो ये दिन अब गुज़र न पाता

तू कहती है मेरे दिल में तेरे लिए कुछ भी नहीं है
पर मैं तो तेरे बिना कुछ सोच भी नहीं पाता

क्या पता उस खुदा ने तेरा और मेरा साथ लिखा भी है या नहीं
पर सच कहूं, मुझसे अब और इंतज़ार सहा नहीं जाता..........

Saturday, June 7, 2014

इस दुनिया में खुश कौन है

काश खुशियाँ भी किसी दुकान पे मिला करती
मैं भी अपने लिए सौ-दो सौ ग्राम ले आता

ज्यादा ले लूँ तो शायद हज़म न कर पाउँ
बस उनमे ही अपनी ज़िन्दगी ढूंढ लेता

इस दुनिया में खुश कौन है
वो जिसके पास दौलत है या
वो जिसके पास शोहरत है
वो जिसके पास नाम है या
वो जिसके पास कुछ नहीं है

सवाल आपसे है
जवाब खुद ही ढूंढें

Monday, June 2, 2014

तेरे "like" का मुझे इंतज़ार रहता है

Hi guys,
I thought that we all use social networking website to some extent and some are very addicted to it as well, so why not to share my thoughts on the same. I hope you will enjoy. Here we go.........

तेरे post का मुझे इंतज़ार रहता है
तेरे comments का मुझे इंतज़ार रहता है |
तू मुझे like करे या न करे पर
तेरे “like” का मुझे इंतज़ार रहता है ||

यूँ तो मैं कई tweet रोज़ किया करता हूँ
तू जाने इनको पढ़ा करती होगी या नहीं |
तू मुझे follow करे या न करे पर
तेरे follow करने का मुझे इंतज़ार रहता है ||

Whatsapp हो या Twitter
Youtube हो या Flickr |
हर घड़ी हर वक़्त
तेरे comments का मुझे इंतज़ार रहता है ||

whatsapp तो इस कदर ज़िन्दगी में शामिल हो चुका है
कि इसके बिना तो जीना नामुमकिन लगने लगा है |
नींद भी इतनी बदमाश हो गई है, क्या कहूं
कि इसे भी तेरे goodnight का इंतज़ार रहता है ||
..........हाँ इसे भी तेरे goodnight का इंतज़ार रहता है ||

Share your thoughts...:)

Saturday, May 10, 2014

हम शायद जीते ही इसलिए है

कुछ हालात एसे है, जिन्हें मैं बदल नहीं सकता
कुछ लोग ऐसे है, जो बदलना नहीं चाहते
मैं गर सोचूं भी कि ये वक़्त जल्दी गुज़र जाये
तो ये वक़्त भी कमबख्त एसा है, जो जल्द गुज़ारना नहीं चाहता....

कभी कभी लगता है कि काश हर चीज़ अपने हाथ में होती
हम चाहे दिन तो दिन और रात तो रात होती
पर शायद हर चीज़ इंसान के हाथ में आ जाती
तो ये ज़िन्दगी शायद, ज़िन्दगी न रह पाती

सोचो, कि तुम्हे पता लग जाये कि कल क्या होने वाला है
सोचो, कि तुमको पता लग जाये कि कोई तुम्हारे बारे में क्या सोचता है
सोचो, कि हर चीज़ तुम्हारे नियंत्रण में हो जाये
पर, गर एसा हो भी जाये तो ज़िन्दगी जीने का मज़ा क्या रह जाये

हम शायद जीते ही इसलिए है, कि हमें कल का पता नहीं
हम शायद जीते ही इसलिए है, कि हमें कुछ अच्छे की उम्मीद है
हम शायद जीते ही इसलिए है, कि हमने कुछ ख्वाब देखे है और
हम शायद जीते ही इसलिए है, कि हमें इनके पूरा होने की उम्मीद है.....